Kakad Kissa By Pradeep Jilwane (Paperback)

236.00295.00

Kakad Kissa By Pradeep Jilwane (Paperback)

निमाड़ी लोकबोली का स्थानीय शंड काकड़ का अर्थ है—गाँव की सरहद। इस तरह का काकड़ किस्सा गाँव और उसकी सरहद के इर्द-गिर्द बुना गया वह बयान है
इस पुस्तक पर २०% की विशेष छूट,
ऑफर ३० अप्रैल २०२४ तक वैध

In stock

You may also like…

  • Shivling Calling by Kundan Jagdish Sahu

    हिन्दी में ऐसे आख्यान गिने-चुने ही होंगे जिन्हें हम किसी साहसिक अभियान की कथा कह सकें। इस लिहाज से कुंदन जगदीश साहू की यह कृति खासी उल्लेखनीय है। काफी पठनीय भी। लेखक के मुताबिक शिवलिंग कॉलिंग की कहानी उन्होंने मूल रूप में उत्तराखण्ड में एक होटल के एक रूमबॉय से सुनी थी जिसमें काल्पनिक अंश जोड़कर उन्होंने यह वृत्तान्त रचा। रूमबॉय वाली बात क्या पता कथा कहने का बहाना भी हो सकती है। जो हो, यह रचना लेखक की अपनी कल्पनाशीलता और रचनात्मक उद्यम की देन है। लेखक ने खुद कहा है, इसमें जिस साहसिक अभियान का वर्णन है वह पूरी तरह काल्पनिक है।

    339.00399.00
  • Kit Kit By Anu Shakti Singh

    Kit Kit By Anu Shakti Singh
    कित कित – अणुशक्ति सिंह

    मन की नदियों, हवाओं, चुप्पियों, कथाओं को रचना
    में रूप देने के लिए रियाज़ के साथ आत्मसंयम व
    कलात्मक अभिव्यक्ति का सन्तुलन वांछित होता है,
    तब एक रचना अपना प्रसव ग्रहण करने को उन्मुख
    होती है। जो कलाकार इस गहरे बोध से परिचित होते हैं
    वे गति से अधिक लय को भाषा में समाने का इन्तज़ार
    करते उसे अपना रूप लेने देते हैं। लय, जो अपनी
    लयहीनता में बेहद गहरे और अकथनीय अनुभव ग्रहण
    करती है उसे भाषा में उतार पाना ही कलाकार की
    असल सिद्धि है। अणु शक्ति ने अपने इस नॉवल में
    टीस की वह शहतीर उतरने दी है। यह उनके कथाकार
    की सार्थकता है कि नॉवल में तीन पात्रों की घुलनशील
    नियति के भीतर की कशमकश को उन्होंने दृश्य बन
    कहन होने दिया है। स्त्री, पर-स्त्री, पुरुष, पर-पुरुष,
    इनको हर बार कला में अपना बीहड़ जीते व्यक्त करने
    का प्रयास होता रहा। हर बार रचना में कुछ अनकही
    अनसुनी कतरनें छितराती रही हैं। वहाँ प्रेम और
    अकेलापन अपने रसायन में कभी उमड़ते हैं कभी
    घुमड़कर अपनी ठण्ड में किसी अन्त में चुप समा जाते
    हैं। अणु शक्ति इन मन:स्थितियों को बेहद कुशलता से
    भाषा में उतरने देती हैं व अपनी पकड़ को भी अदृश्य
    रखने में निष्णात साबित हुई हैं।

    Buy This Book Instantly thru RazorPay
    (15% + 5% Extra Discount Included)

    Kindle E-Book Also Available
    Available on Amazon Kindle

    212.00249.00
  • Inshallah By Abhiram Bhadkamkar

    मुस्लिम समाज की तरफ देखने के आज तक के सारे एक तरफा और दुराग्रही दृष्टिकोण को नकारते हुए, स्पष्ट भाषा में, बेबाक वास्तव का चित्रण कराने वाले इस उपन्यास ने विचार के स्तर पर एक नये मन्थन का आरम्भ किया है।

    यह उपन्यास मुस्लिम समाज की आज की स्थिति और बहुसंख्यकों के साथ के उनके जटिल रिश्तों का भी विमर्श प्रस्तुत करता है।

    मुस्लिम समाज में व्याप्त धार्मिक संकीर्णता, रूढ़िवादिता, परम्परा और उनकी कर्मठता पर भाष्य करते हुए इस समाज को वोट बैंक बनाकर रखने और इस्तेमाल करने की राजनीतिक मानसिकता को भी आड़े हाथ लेता है।

    361.00425.00
  • Mitne Ka Adhikaar By Prachand Praveer

    इस अप्रतिम प्रेम कथा में चित्रकार रघु विवाहिता और अपूर्व सुन्दरी गौरी के प्रेम में पड़कर अपने जीवन को उलझा लेता है। पुस्तक के पहले हिस्से में रघु प्रेम के आरम्भ में ही प्रेम से छुटकारा पा लेना चाहता है किन्तु वह गौरी के प्रणय को अस्वीकार नहीं कर पाता। इस कशमकश में गौरी ही हारकर रघु को छोड़कर चली जाती है। दूसरे हिस्से में पराजित और लज्जित रघु संन्यासियों जैसे भटकने के लिए निकल पड़ता है। भारतीय दर्शन से जुड़ी यह कथा इक्कीसवीं सदी के भारत से जुड़कर नये आयाम खोलती है तथा पाठक को बहुत कुछ विचारने पर विवश करती है।

    Buy This Book with 1 Click, Via RazorPay (15% + 5% discount Included)

    Kindle E-Book Also Available
    Available on Amazon Kindle

    446.00525.00