Showing all 4 results

  • Maslak-e-aala Hazrat Barelavi By Anil Maheshwari

    हिन्दुस्तान पर 500 साल से भी ज्यादा मुस्लिम शासकों का शासन रहा, लेकिन वे शासक ‘धार्मिक कट्टरपन्थी’ नहीं थे, इसीलिए हिन्दुस्तान की आबादी में आज भी 85 प्रतिशत हिन्दू हैं। इस दौरान स्थानीय धार्मिक और सामाजिक रीति- रिवाज और मान्यताओं ने बाहर से आने वाले मुसलमानों पर भी अपना प्रभाव डाला। हिन्दुस्तान के साधू-सन्त और उनकी परम्पराओं को भी हिन्दुस्तानी इस्लाम में कुबूल कर लिया गया। इस तरह हिन्दू और हिन्दुस्तान में आए इस्लाम के बीच धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक आदान- प्रदान हुआ, जिसकी अनदेखी नहीं की जा सकती। हिन्दुस्तान में जब धीरे-धीरे मुस्लिम शासकों का शासन कमज़ोर होता गया तो उलेमाओं के ऊपर भी रोक-भीम कम होती गयी। इसी बीच उलेमाओं ने अपने आपको मुस्लिम समुदायों के डर और आशंकाओं के बीच खुद को उनका नेतृत्वकर्ता घोषित कर लिया।

    हिन्दुस्तान में ज्यादातर मुसलमान सुन्नी हैं और मुख्य रूप से हनफ़ी हैं। वे अपने-अपने फ़िक़ा (समुदाय) पर अमल करते हैं। हनफ़ी सुन्नी मुसलमानों के बीच दो मुख्य फिरने (समुदाय) हैं-बरेलवी और देवबन्दी। इन दोनों फिरकों को मानने वाले लोग एकसाथ रहते हैं और कुछ हद तक आपस में मिलते-जुलते भी हैं, लेकिन नाम रखने और ईश-निन्दा यानी अवमानना की हद तक एक-दूसरे के मुखालिफ़ भी हैं।
    234.00275.00
  • Dharam Ka Pratipaksh – Ratan Chand Jain

    Dharam Ka Pratipaksh – Ratan Chand Jain

    198.00220.00
  • Islam Aur Musalman : Kuch Prashan : Kuch Jiggyasaen – Prof. Akhtarul Wasey

    Islam Aur Musalman : Kuch Prashan : Kuch Jiggyasaen – Prof. Akhtarul Wasey

    135.00150.00
  • Vichar Aur Nirvichar By Acharya Mahaprajna

    Vichar Aur Nirvichar By Acharya Mahaprajna
    विचार और निर्विचार

    225.00250.00