Menu Close

Shop

Madhav Hada Books Combo

762.00

 

Kavita Ka Pura Drishya               Rs.90/-
Ek Bhav : Anek Naam                 Rs.575/-
MEERAN                                      Rs.175/-
Dehri Par Deepak                       Rs.249/-

 Rs.1089 Combo Price Rs.762/-

In stock

Wishlist
SKU: Madhav Hada 4 book combo Category:

Description

Offer Period 09-May-2024 to 14-May-2024

 

Additional information

Binding

Paperback

Publisher

Setu Prakashan Samuh

Language

Hindi

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Madhav Hada Books Combo”

You may also like…

  • Digambar Vidrohini Akk Mahadevi By Subhash RaiDigambar Vidrohini Akk Mahadevi By Subhash Rai

    Original price was: ₹449.00.Current price is: ₹382.00.

    यह एक अनूठी पुस्तक है : इसमें गम्भीर तथ्यपरक तर्कसम्मत शोध और आलोचना, सर्जनात्मक कल्पनाशीलता से किये गये सौ अनुवाद और कुछ छाया-कविताएँ एकत्र हैं। इस सबको विन्यस्त करने में सुभाष राय ने परिश्रम और अध्यवसाय, जतन और समझ, संवेदना और सम्भावना से एक महान् कवि को हिन्दी में अवतरित किया है। वह ज्योतिवसना थी, इसीलिए उसे ‘दिगम्बर’ होने का अधिकार था : अपने तेजस्वी वैभव के साथ ऐसी अक्क महादेवी का हिन्दी में हम इस पुस्तक के माध्यम से ऊर्जस्वित अवतरण का स्वागत करते हैं। रजा पुस्तक माला इस पुस्तक के प्रकाशन पर प्रसन्न है।

    -अशोक वाजपेयी
    Buy This Book Instantly thru RazorPay (15% + 5% extra discount)

     

  • Asahmatiyon Ke Vaibhav Ke Kavi Shriprakash ShuklaAsahmatiyon Ke Vaibhav Ke Kavi Shriprakash Shukla

    Original price was: ₹600.00.Current price is: ₹510.00.

    1990 के बाद जिन कवियों ने हिन्दी कविता के आँगन में दस्तक दी, उनमें आज श्रीप्रकाश शुक्ल अग्रगण्य हैं। उनकी लगभग तीस वर्षीय काव्य-यात्रा का मूल्यांकन है यह पुस्तक ।

    श्रीप्रकाश शुक्ल का काव्य-संसार मूलतः उनका आस-पड़ोस है। आस-पड़ोस का अर्थ सहजीवन से है। सहजीवन में प्रकृति और उसके उपदान हैं; सामाजिक हैं, सामाजिक की सामूहिक चेतना है; उत्सव है, ध्वंस है-विसंगतियाँ, अपक्षरण, क्रूरताएँ हैं। ये सब मिलकर जिस काव्यात्मक व्यायोम की रचना करते हैं और उसके लिए काव्य की जिस संवेदनात्मक संरचना का विस्तार करते हैं- उसके लगभग सभी आयामों को इस पुस्तक में दर्ज करने की कोशिश की गयी है। इसमें वरिष्ठ से लेकर नव्यतम पीढ़ी के रचनाकारों ने जो योगदान दिया है, वह सम्पादक द्वय के उद्यम के साथ ही कवि की व्यापक स्वीकृति का परिचायक है।
    Buy This Book Instantly thru RazorPay
    (15% + 5% Extra Discount Included)
  • Hindi Kavita Ke Sarokaar By Devshankar NaveenHindi Kavita Ke Sarokaar By Devshankar Naveen

    Original price was: ₹599.00.Current price is: ₹509.00.

    अपने सामाजिक सरोकार और इतिहास-बोध के सहकार से ही कोई रचनाकार अपनी रचना-दृष्टि निर्धारित करता है। इतिहास-बोध और सामाजिक सरोकार से निरपेक्ष रचनाकारों की रचनाएँ हर हाल में चूका हुआ उद्यम होगा। ऐसी रचनाएँ शाश्वत तो क्या, तात्कालिक भी नहीं बन सकतीं। समकालीन यथार्थ का भाव-बोध वहन किये बिना किसी रचना के शाश्वत होने की कल्पना निरर्थक है।

    ‘हिन्दी कविता के सरोकार’ शीर्षक इस पुस्तक में यह चेष्टा सदैव जागृत रही है कि भावकों को हिन्दी कविता के समुज्ज्वल अतीत में झाँकने की दृष्टि मिले। तथ्यतः बीते इतिहास, बदलते भूगोल, प्रगतिकामी जनचेतना, अप्रत्याशित राजनीतिक वातावरण और लैंगिक संवेदनाओं की विवेकशील दृष्टि अपनाये बिना भारतीय साहित्य को समझना असम्भव है। इसलिए इन सभी बिन्दुओं पर सावधान आलोचना-दृष्टि रखते हुए, इस पुस्तक में कविता के सामाजिक सरोकार पर गम्भीरता से विचार किया गया है।
    – पुरश्चर्या से
    Buy This Book Instantly thru RazorPay (15% + 5% extra discount)
  • Tulsidas Ka Swapn Aur Lok By Jyotish Joshi (PB)Tulsidas Ka Swapn Aur Lok By Jyotish Joshi (PB)

    Original price was: ₹425.00.Current price is: ₹361.00.

    Tulsidas Ka Swapn Aur Lok – Jyotish Joshi
    तुलसीदास का स्वप्न और लोक – ज्योतिष जोशी

    हिन्दी के प्रतिष्ठित लेखक, आलोचक, समीक्षक ज्योतिष जोशी की आलोचनात्मक पुस्तक ‘तुलसीदास का स्वप्न और लोक’ शीर्षक से प्रकाशित हुई है. सतही तौर पर लग सकता है कि यह पुस्तक भी अन्य सामान्य आलोचनात्मक पुस्तकों की तरह तुलसीदास को संतशिरोमणि एवं भक्त कवि के रूप में अथवा धार्मिक रूढ़िग्रस्त प्रतिक्रियावादी वर्ण व्यवस्था के घोर समर्थक के रूप में चित्रित करने वाली होगी

Jinna - Hindi