Saanp by Ratankumar Sambharia

361.00425.00

Saanp by Ratankumar Sambharia
`साँप` रत्नकुमार सांभरिया का उपन्यास है, जो हाशिए का जीवन जीने वाले खानाबदोश लोगों पर केन्द्रित है। इस कथानक पर यह हिन्दी का महत्त्वपूर्ण कार्य है। ये वो लोग हैं, जो आज भी स्थायी निवास और स्थायी रोज़गार के लिए जद्दोज़हद कर रहे हैं। इनमें कालबेलिया, करनट, मदारी आदि घुमन्तू समुदाय के लोग हैं।

In stock

Wishlist

`साँप` रत्नकुमार सांभरिया का उपन्यास है, जो हाशिए का जीवन जीने वाले खानाबदोश लोगों पर केन्द्रित है। इस कथानक पर यह हिन्दी का महत्त्वपूर्ण कार्य है। ये वो लोग हैं, जो आज भी स्थायी निवास और स्थायी रोज़गार के लिए जद्दोज़हद कर रहे हैं। इनमें कालबेलिया, करनट, मदारी आदि घुमन्तू समुदाय के लोग हैं।

 

About the Author:

रत्नकुमार सांभरिया दलित वंचित वर्ग के रचनाकार हैं। उनकी रचनाओं में इस वर्ग की पीड़ा, संत्रास और अस्थिर जीवन मुखर होकर अभिव्यक्त होता है। आज़ादी के इतने सालों बाद भी यह वर्ग फटेहाल और बदहाल है। सांभरिया का लेखन इसका प्रमाण है।

ISBN

9789393758651

Author

Ratankumar Sambharia

Binding

Paperback

Pages

424

Publisher

Setu Prakashan Samuh

Imprint

Setu Prakashan

Language

Hindi

Customer Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Saanp by Ratankumar Sambharia”

You may also like…

  • Matibhram By Raju Sharma

    “‘मतिभ्रम’ एक ऐसा उपन्यास है, जिसे राजू शर्मा ने अपने रचनात्मक धीरज से सम्भव बनाया है। यह रचनात्मक धीरज भी इकहरा नहीं है, इसकी बहुस्तरीयता का आधार जीवन से गहरी आसक्ति और गम्भीर राजनीतिक समझ है। जीवन से आसक्ति और गहरी राजनीतिक समझ से निर्मित संवेदनात्मक संरचनाएँ घटनाओं को उन क्षितिजों तक पहुँचाती हैं, जहाँ तक अमूमन कथा विन्यास में उनका विन्यस्त हो पाना दुरूह होता है…”

    510.00600.00
  • Deh Kutharia By Jaya Jadwani

    Deh Kutharia By Jaya Jadwani

    ट्रांसजेण्डरों की ज़िंदगी इतनी ही नहीं है, जितनी हम देखते हैं या जितना अनुमानतःसमझते हैं। देह कुठरिया उपन्यास हमें ऐसे मानव-समूहों से जोड़ता है जो सामाजिक उपेक्षा के शिकार रहे हैं। जो मनुष्य होकर भी मनुष्य नहीं हैं।

    254.00299.00
  • O Ri Kathputli By Anju Sharma

    O Ri Kathputli – Anju Sharma
    ओ री कठपुतली – अंजू शर्मा

    ओ री कठपुतली अंजू शर्मा द्वारा लिखित उपन्यास है।

    280.00350.00