Menu Close

Shop

Sale!

Kalam By Hariyash Rai

Original price was: ₹250.00.Current price is: ₹213.00.

“हरियश राय की कहानियाँ हमारे आज के सामाजिक परिवेश का आकलन करती हुई उन मूल्यों की शिनाख्त करती दिखाई देती हैं जो मनुष्यता और विवेकपरकता के लिए सबसे ज़रूरी हैं। हरियश राय यह शिनाख़्त बहुत धैर्य और संयम के साथ करते हुए दिखाई देते हैं। उनकी कहानियाँ हमारे आज के बदलते समय में गुम हो रही मनुष्यता और संवेदनशीलता को सामने लाकर पाठकों की समझ को बदलने का आधार देती हैं ”

Buy This Book Instantly thru RazorPay (15% + 5% extra discount)

Or use Add to cart button to use our shopping cart

In stock

Wishlist
SKU: Kalam_paperback Category:

Description

कलम – हरियश राय
Kalam By Hariyash Rai

 

हरियश राय समकालीन कहानी परिदृश्य में एक जाना- पहचाना नाम है। वे कहानी-रचना में अपने बनाये हुए मुक़ामों को पीछे छोड़ते आए हैं। इस संकलन में शामिल कहानियाँ सूक्ष्मता, सृजनात्मक सौन्दर्य, संवेदना और वैचारिकता को अपने में समाये पाठकों की चेतना को गहरे जाकर प्रभावित करती हैं। उनकी कहानियाँ बड़े असरदार तरीके से संवादों के जरिये हमारे आज के सरोकारों को सामने लाती हैं। हरियश राय की कहानियाँ हमारे आज के सामाजिक परिवेश का आकलन करती हुई उन मूल्यों की शिनाख्त करती दिखाई देती हैं जो मनुष्यता और विवेकपरकता के लिए सबसे ज़रूरी हैं। हरियश राय यह शिनाख़्त बहुत धैर्य और संयम के साथ करते हुए दिखाई देते हैं। उनकी कहानियाँ हमारे आज के बदलते समय में गुम हो रही मनुष्यता और संवेदनशीलता को सामने लाकर पाठकों की समझ को बदलने का आधार देती हैं। हरियश राय अपनी कहानियों में बहुत गहराई और विस्तार से सदियों से चली आ रही बहुलतावादी सामासिक संस्कृति के मूल्यों को दर्ज करते हैं और उन मान्यताओं, सामाजिक मूल्यों, विश्वासों को सामने लाते हैं जो समाज की धरोहर के रूप में जाने-पहचाने जाते हैं। हमारे समय की बदलती हुई तस्वीर को देखना हो तो हरियश राय की इन कहानियों से गुजरना लाजमी हो जाता है।

Additional information

ISBN

9788119899326

Author

Hariyash Rai

Binding

PaperBack

Pages

152

Publication date

10-02-2024

Publisher

Setu Prakashan Samuh

Language

Hindi

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Kalam By Hariyash Rai”
Jinna - Hindi