Shunya ki Tauheen By Ashar Najmi

196.00230.00

शून्य की तौहीन एक ऐसा उपन्यास है जो भारतीय उपमहाद्वीप की सबसे विकट समस्या से हमें रूबरू कराता है। अशअर नज्मी के इस उपन्यास की केन्द्रीय चिन्ता यह है कि व्यक्ति स्वातंत्र्य को कैसे सुनिश्चित किया और अक्षुण्ण रखा जाए, जिस पर नित हमले हो रहे हैं। ऐसे हमलों से उपजा आतंक पूरे उपन्यास में तारी रहता है। यों तो सत्ताधीशों, पुलिस और नौकरशाही तथा धर्मसत्ता और समाज के सामन्ती ढाँचे आदि की तरफ से नागरिक आजादी को कुचलने की कोशिशें बराबर होती रही हैं, लेकिन पिछले कुछ दशकों से यह दमन सबसे ज्यादा धर्म के नाम पर हुआ है। इसका सबसे व्यवस्थित और चरम रूप पाकिस्तान के ईशनिन्दा विरोधी कानून में दीखता है। मज़हबी भावनाएँ उकसाकर बनाये गये

In stock

Wishlist

Shunya ki Tauheen By Ashar Najmi
शून्य की तौहीन – अशअर नजमी
Translated By Rizwanuddin Farooqi
Edited By udayan vajpeyi

SKU: Shoonya ki Tauheen-PB
Categories:,
Author

Ashar Najmi

Binding

Paperback

Language

Hindi

ISBN

9788119899258

Pages

152

Publication date

10-02-2024

Publisher

Setu Prakashan Samuh

Customer Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Shunya ki Tauheen By Ashar Najmi”