Prithvi Kee Aanch – Tulsiraman

60.00

Prithvi Kee Aanch – Tulsiraman

पृथ्वी की आँच -तुलसी रमण

Out of stock

Wishlist

About the Author:

25 सितम्बर, 1954; शिमला के निकट तहसील ठियोग के मांदल (चूंड) गाँव में जन्म। संस्कृत एवं हिन्दी साहित्य में एम. ए.। छ: वर्षों तक अध्यापन के बाद, गत बारह वर्षों से हिमाचल प्रदेश के भाषा एवं संस्कृति विभाग में साहित्यिक आयोजन एवं संपादन कार्य से सम्बद्ध। लगभग सात वर्षों से साहित्यिक पत्रिका ‘विपाशा’ का संपादन। अनियतकालीन पत्रिका ‘शिखर’ का सह-संपादन। अनेक अखिल भारतीय लेखक सम्मेलनों, लेखक शिविरों तथा अन्य महत्त्वपूर्ण साहित्यिक आयोजनों में प्रतिभाग। ढलान पर आदमी (कविता संग्रह) 1986 में प्रकाशित। इसी पर हिमाचल अकादमी का वर्ष 1987 का कविता पुरस्कार। कुछ कविताएँ रूसी तथा अंग्रेजी भाषाओं में अनूदितप्रकाशित। ‘पहाड़ से समुद्र तक’ तथा ‘बर्फ की कोख से’ दो कहानी संकलन संपादित। लगभग आधा दर्जन कहानियां प्रतिष्ठित पत्रिकाओं व संकलनों में प्रकाशित। समीक्षा, लेख, रिपोर्ताज, साक्षात्कार तथा संस्कृति की विभिन्न विधाओं पर लेख पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित।

ISBN

9788185127330

Author

Tulsiraman

Binding

Hardcover

Pages

96

Publisher

Setu Prakashan Samuh

Imprint

Vagdevi

Language

Hindi

Customer Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Prithvi Kee Aanch – Tulsiraman”